Monday, June 27, 2011

हंसों ना !

हंसों ना !


खूब हंसों

सब हंस रहे है

तुम पीछे कैसे ?

हंसों ना !

मेरी बेबसी पर

लाचारी पर

खूब हंसों

5 comments:

  1. ha ha ha ha................

    ReplyDelete
  2. Aisi kaunsi bebasi hai jispe hansaa jaye?Itne bedard nahee ham ki hans den!

    ReplyDelete
  3. हंसने वालों को कौन रोक पाया है...हंसने दो...
    नीरज

    ReplyDelete
  4. jo kisi ki bebasi aur lachari par hase.itna bedard kaun hoga

    ReplyDelete